Don't Miss
Home » देश » कांग्रेस की नाव पर सवार हुए नसीमुद्दीन

कांग्रेस की नाव पर सवार हुए नसीमुद्दीन

नई दिल्ली। बसपा के पूर्व नेता और एक समय में मायावती के सबसे खास माने जाने वाले नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने कांग्रेस का दामन थाम लिया है। दिल्ली में अपने समर्थकों के साथ नसीमुद्दीन सिद्दीकी कांग्रेस में शामिल हो गए। यूपी कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर की उपस्थिति में नसीमुद्दीन सिद्दीकी कांग्रेस में शामिल हुए। बताते चलें कि नसीमुद्दीन को पिछली 10 मई को मायावती ने पैसे के लेनदेन में गड़बड़ी और लोकसभा चुनाव में हार का आरोप लगाकर पार्टी से बाहर कर दिया था। जिसके बाद नसीमुद्दीन सिद्दीकी खुलकर मायावती के विरोध में आ गए थे और कई वायस रिकॉर्डिंग को वायरल कर मायावती की मुश्किलें बढ़ा दी थीं। बीएसपी से निकाले जाने के बाद से लगातार सिद्दीकी काफी समय से अपने लिए नई पार्टी की तलाश कर रहे थे, आखिरकार उन्होंने कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण कर ली।

नसीमुद्दीन सिद्दीकी ने थामा कांग्रेस का दामन नसीमुद्दीन सिद्दीकी भले ही कांग्रेस में शामिल हो गए हों लेकिन जिस समय वो बीएसपी में थे उनका कद पार्टी के प्रथम पंक्ति के नेताओं में शुमार थे। नसीमुद्दीन ही बसपा की सारी गुणा-गणित और रणनीति को तय किया करते थे। विधानसभा चुनाव के दौरान उनका वेस्ट यूपी की सिवालखास और गाजियाबाद सीट के प्रत्याशियों की सदस्यता शुल्क को लेकर मामला गर्माया था और मायावती के साथ उनकी खींचतान शुरू हो गई थी।अधिक संख्या में मुस्लिमों को टिकट देने पर भी नसीमुद्दीन घिर गये और इसी दौरान सिद्दीकी ने मायावती और खुद के बीच हुई बातचीत का वीडियो ऑडियो वायरल कर दिया और जमकर हंगामा मच गया।जिसके बाद सिद्दीकी को बाहर का रास्ता देखना पड़ा। बीएसपी के दिग्गज नेताओं में शुमार थे सिद्दीकी नसीमुद्दीन सिद्दीकी का कद बसपा में मुस्लिम वोटरों को एकत्रित करने के लिए बड़ा माना जाता था। अब वही काम वह कांग्रेस के लिए करेंगे। कांग्रेस ने नसीमुद्दीन के लिए रास्ता इसीलिए खोला क्योंकि वह आगे आने वाले लोकसभा चुनाव में मुस्लिम मतदाताओं को कांग्रेस की ओर ले आ सके। नसीमुद्दीन सिद्दीकी के साथ कई पूर्व विधायक और बड़े नेता भी शामिल हुए हैं।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*