Don't Miss
Home » देश » मीडिया के सामने आखिर क्यों रो दिये वीएचपी नेता तोगड़िया

मीडिया के सामने आखिर क्यों रो दिये वीएचपी नेता तोगड़िया

अपने गायब होने के राज का किया पर्दाफाश

अहमदाबाद। अशोक ​सिंघल के बाद सारी दुनिया में हिन्दू धर्म की आन बान शान के लिये जद्दोजहद करने वाले और 2014 का लोकसभा चुनाव हो या ​​​फिर उत्तर प्रदेश का विधानसभा चुनाव भाजपा के लिये पर्दे के पीछे से जबरदस्त काम करने वाले और हिन्दू संगठनों में जान फूंकने वाले विश्व हिंदू परिषद के नेता प्रवीण तोगड़िया ने आज मंगलवार सुबह मीडिया के सामने आकर अपने गायब होने के राज का पर्दाफाश करते हुए कहा कि कुछ समय से मेरी आवाज दबाने का प्रयास होता रहा है। मैं हिंदू एकता के लिए प्रयास करता रहा हूं कई वर्षों से हिंदुओं की जो आवाज थी, राम मंदिर-गोहत्या का कानून, कश्मीरी हिंदूओं को बसाने की मांग की। श्री तोगड़िया मीडिया से बात करते करते काफी भावुक हो गए।

उन्होंने कहा कि मेरे विरुद्ध कानून भंग के केस लगाए गए हैं, मुझे डराने की कोशिश की जा रही है। मकर संक्रांति के दिन राजस्थान पुलिस का काफिला मुझे गिरफ्तार करने के लिए आया था। यह हिंदुओं की मेरी आवाज दबाने का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि मैंने 10 हजार डॉक्टरों को तैयार किया, लेकिन सेंट्रल आईबी ने उन्हें भी डराने की कोशिश की कल मैं मुंबई में भैयाजी जोशी के साथ कार्यक्रम कर रहा था, मैंने पुलिस को ढाई बजे आने को कहा पर सुबह पूजा कर रहा था तभी एक व्यक्ति आया और उसने कहा कि मेरा एनकाउंटर करने की बात हो रही है।

तोगड़िया ने बताया कि मैंने अपने फोन को बंद कर दिया था, मैंने दूसरे फोन से राजस्थान पुलिस से बात की। राजस्थान के गृहमंत्री से भी इस मुद्दे पर बात की मैं अकेला ऑटो रिक्शा में निकला था । बताते चलें कि तोगड़िया सोमवार सुबह से ही लापता थे करीब 11 घंटे बाद वह अचेत अवस्था में मिले थे। उन्हें चंद्रमणि अस्पताल में भर्ती कराया गया था। गौरतलब है कि सोमवार सुबह जैसे ही तोगड़िया के गायब होने की खबर का पता चला तो तमाम हिन्दू संगठनों और उनके चहेते लोगों के साथ साथ देश दुनिया में एक तरह से हड़कंप मच गया। उनके समर्थक गुस्से में आ गए और कई जगह प्रदर्शन भी किया गया। बता दें कि तोगड़िया को राजस्थान या गुजरात पुलिस के द्वारा गिरफ्तार करने की खबर से अहमदाबाद में हंगामा भी हुआ था।

वीएचपी कार्यकर्ताओं ने उनके गायब होने के विरोध में अहमदाबाद, गांधीनगर, सूरत, राजकोट, मोरबी और नर्मदा में विरोध प्रदर्शन किया था। विश्व हिन्दू परिषद के प्रवक्ता विनोद बंसल ने कहा है, ‘पूरे देश में कार्यकर्ता तोगड़िया को लेकर चिंतित थे किसी को पता नहीं था कि वह कहां गए हमने सभी कार्यकर्ताओं से धैर्य बनाए रखने की अपील की थी।वहीं परिषद का कहना था कि राजस्थान पुलिस तोगड़िया को गिरफ्तार करके ले गई थी। वहीं अहमदाबाद के जॉइंट पुलिस कमिश्नर जेके भट्ट ने कहा था कि तोगड़िया को न गुजरात पुलिस ने गिरफ्तार किया और न राजस्थान पुलिस ने गिरफ्तार किया। राजस्थान पुलिस ने भी तोगड़िया की गिरफ्तारी से इनकार किया था। वहीं अहमदाबाद पुलिस ने कहा था कि तोगड़िया की तलाश की जा रही थी।

तोगड़िया का इलाज कर रहे डॉ.आरएम अग्रवाल ने कहा कि तोगड़िया को बेहोशी की हालत में भर्ती कराया गया था। उनका शुगर लेवल कम हो गया था इसी वजह से वह बेहोश हो गए थे। उन्होंने बताया कि तोगड़िया को एंबुलेस अस्पताल लेकर आई थी। डॉ. अग्रवाल के मुताबिक अब उनकी हालत पहले से बेहतर है। वहीं सोमवार शाम को अहमदाबाद पुलिस क्राइम ब्रांच ने इस मामले में प्रेस कॉन्फ्रेंस की थी इसमें कहा गया था कि प्रवीण तोगड़िया की तलाश की जा रही है। पुलिस के मुताबिक तोगड़िया विश्व हिंदू परिषद के मुख्यालय से सुबह 10:45 पर एक रिक्शे से निकले थे।

पुलिस के मुताबिक तोगड़िया खुद ही रिक्शे में बैठकर वीएचपी दफ्तर से निकले थे। उन्होंने अपने सुरक्षा कर्मी को भी साथ आने से मना कर दिया था। पुलिस से जब पूछा गया कि क्या तोगड़िया अंडरग्राउंड हो गए तो उन्होंने कहा, ‘हम यह नहीं कह रहे हैं लेकिन इतना साफ है कि वह अकेले ही रिक्शे में बैठकर निकले हैं। अहमदाबाद पुलिस का कहना था कि पाडली ऑफिस की सीसीटीवी फुटेज तलाशी जा रही हैं। यहीं तोगड़िया को आखिरी बार देखा गया था।

पुलिस ने कहा था कि उन्हें इस मामले में तोगड़िया के परिवार की ओर से अब तक गुमशुदगी की कोई रिपोर्ट नहीं मिली है।जानकारी के मुताबिक राजस्थान पुलिस को उनकी तलाश एक पुराने केस के सिलसिले में थी राजस्थान पुलिस के डीजीपी ओपी गलहोत्रा ने कहा है कि तोगड़िया की गिरफ्तारी नहीं हुई है। राजस्थान के गंगापुर शहर में प्रवीण तोगड़िया के खिलाफ केस दर्ज हुआ था। इसमें तोगड़िया को कोर्ट के सामने पेश होना था, लेकिन उनकी पेशी नहीं हुई थी। इसके बाद कोर्ट ने तोगड़िया के खिलाफ गिरफ्तारी का वारंट जारी किया था।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*