Don't Miss
Home » प्रदेश » उत्तर प्रदेश » बीज वितरण में किसी प्रकार की अनियमितता बर्दाशत नहीं: प्रमुख सचिव

बीज वितरण में किसी प्रकार की अनियमितता बर्दाशत नहीं: प्रमुख सचिव

थाना समाधान दिवस पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही बर्दाशत नहींः हेमंत राव
सहारनपुर। प्रमुख सचिव विज्ञान एवं प्रौद्यौगिकी विभाग एवं जनपद के नोडल अधिकारी हेमन्त राव ने अधिकारियों को निर्देश दिये कि किसानांे को बीज वितरण में किसी भी प्रकार की अनयिमितता बर्दाशत नहीं होगी। उन्होंने कहा कि शौचालायों के निर्माण के समय लाभार्थी का शौचालय के पास खड़े होकर फोटों को पोर्टल पर अपलोड किया जायें। उन्होंने कहा कि किसानों के गन्ने का भुगतान में देरी के लिए चीनी मिलों के विरूद्ध सख्त कार्यवाही की जायें। उन्होंने कहा कि किसानों को खाद व बीज की कमी नहीं होनी चाहिए। इसके लिए अधिकारी अभी से सभी तैयारियां पूरी कर लें। उन्होंने कहा कि थाना समाधान दिवस पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण में लापरवाही बर्दाशत नहीं।

श्री राव ने आज यहां विकास खण्ड बलियाखेड़ी के निरीक्षण के दौरान अधिकारियों को यह निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि किसानों की गोष्ठि आयोजित कर उन्हें बुवाई की नई तकनीक की जानकारी दी जायें जिससे कम सिंचाई में अधिक पैदावार होती है। उन्होंने कहा कि सिंचाई की नई तकनीक अपनाने के लिए भी किसानों में जागरूकता पैदा की जायें। उन्होंने निरीक्षण के समय गेहूं, गन्ना, धान व रबी व बीजो के वितरण आदि के बारें में जानकारी ली। उन्होंने कृषि विभाग के अधिकारियों से किसानों के बीच वितरण किये गये बीजो के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त की।

इस अवसर पर बताया गया कि बीजों का वितरण की अब आॅनलाईन व्यवस्था है। पहले आओ, पहले पाओं के आधार पर किसानों को बीज वितरित किया जाता है। प्रमुख सचिव को बताया गया कि लघु व सीमांत किसानों को मुफ्त बीज वितरित किये जाते हे। उन्होंने मनरेगा के रजिस्ट्रारों की जांच के दौरान मस्टरोल की सही व्यवस्था ना होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए अधिकारियों को जमकर फटकार लगाई।

प्रमुख सचिव ने निरीक्षण के दौरान गंदगी पर भी नाराजगी जताई और खण्ड विकास अधिकारी को निर्देश दिये कि मनरेगा के मास्टरोल को अद्यतन किया जाये। उन्होंने कहा कि विकास खण्ड के ग्रामीण क्षेत्रों में जहां भी शौचालय का निर्माण हो रहा है, वहां गुणवत्ता एवं मानकों का ध्यान रखा जायें। उन्होंने कहा कि जरूरत पड़ने पर वो स्वयं भी नव निर्मित शौचालयों का निरीक्षण करेंगे। उन्होंने कहा कि यदि उनके निरीक्षण के दौरान मानकों व गुणवत्ता की अनदेखी की बात सामने आई तो सम्बधिंत के विरूद्ध दण्ड़ात्मक कार्यवाही की जायेंगी।

खण्ड विकास अधिकारी ने शौचालय के बारे में बताया गया कि 3000 शौचालयों को निर्माण कार्य कराया जा रहा है। कार्य पूरा होते ही फोटोग्राफी कर पोर्टल पर अपलोड कर दी जायेंगी। नोडल अधिकारी ने निर्देश दिये कि शौचालयो की फोटाग्राफी के समय लाभार्थी का पास खडा करके फोटों लिया जाये। इस सम्बन्ध में प्रमुख सचिव को यह भी जानकारी दी गयी कि कतिपय लोगों ने अपने शौचालय लोगो द्वारा तोड दिये है। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि ऐसे लोगों को चिन्हित कर उनके विरूद्ध नियमानुसार कार्यवाही की जायें।
श्री हेमंत राव शौचालयों के सर्वे के बारे में जानकारी दी गयी। इस अवसर पर बताया गया कि अभी तक कोई सर्वे नही हुआ है।

उन्होंने दो वर्ष से अधिक समय से सिंचाई विभाग के नलकूप के खराब होने पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उसे तत्काल सही कराने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि खानन को चलते जो भी निर्माण कार्य अधूरे है उन्हें तत्काल पूरा कर लिया जायें। इसी प्रकार पारिवारिक लाभ योजना के अंर्तगत पेंडिग पडे मामले के बारे में बताया गया कि इसके लिये जिला स्तरीय कमेटी का गठन किया जायेगा। जिसमें लाभार्थी का पैसा सीधे उसके खाते में जायेगा। प्रमुख सचिव ने कम्यूटर का निरीक्षण कर समस्त योजनाओ की जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे अपने कार्यों में पारदर्शिता लाये। उन्होंने कहा कि सरकारी योजनाओं में किसी भी स्तर पर लापरवाही बर्दाशत नहीं की जायेंगी। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी अपना रिकार्ड व रजिस्ट्रर ठीक रखें तथा साफ-सफाई का समुचित ध्यान रखें।

इसके उपरांत प्रमुख सचिव ने सिटी कोतवाली में पहुंच कर वहां अभिलेखों व मालखाने का निरीक्षण के समय अभिलेखो का निरीक्षण किया गया। उन्होंने कहा कि अपराधियों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्यवाही करें। उन्होंने कहा कि वांछित अपराधियों को पकड़ा जायें। उन्होंने कहा कि भू-माफियाओं ओर बड़े अपराधियों की हिस्ट्रीशीट खोली जायें।
उन्होंने कहा कि लम्बित मामालों को समयबद्ध तरीके से निपटाया जायें तथा किसी भी पीड़ित की प्रथम सूचना रिपोर्ट दर्ज करने से इंकार नहीं किया जाना चाहिए।

निरीक्षण के दौरान बताया गया कि उक्त मामला नोएडा की फर्जी कम्पनी का है जिसमें कई लोगो से धोखे से पैसे लिये गये गये है, जिनकी गवाही चल रही है। उन्होंने कहा कि 7-8 लोगो की गवाही हो चुकी है जिनके द्वारा बताया गया कि उनसे पैसे लिये गये। जिस फर्जी कम्पनी द्वारा लोगो द्वारा पैसे लिये गये उनका एकाउण्ट सील कर दिया गया है। जिससे अधिकतर लोगो को पैसा मिल जायेगा। इसके अतिरिक्त फर्जी आईडी पर सिम लेने, सट्टा लगाने तथा थाना समाधान दिवस पर प्राप्त शिकायतों के निस्तारण के संबंध में जानकारी प्राप्त की। उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिये कि थाना समाधान दिवस पर प्राप्त शिकायतों का समयबद्ध निस्तारण किया जाये। इस अवसर पर जिलाधिकारी पी0के0पाण्डेय, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक बबलू कुमार, मुख्य विकास अधिकारी संजीव रंजन सहित वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*