Home » प्रदेश » उत्तर प्रदेश » लोकतंत्र सेनानी मोर्चा ने की भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की मांग

लोकतंत्र सेनानी मोर्चा ने की भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की मांग

सहारनपुर। लोकतंत्र सेनानी मोर्चा ने मुख्यमंत्री से मुलाकात कर अल्पसंख्यक विद्यालयों, महाविद्यालयों की नियुक्तियों में की जा रही मोटी धनराशि की बंदरबांट करने का आरोप लगाया है और भ्रष्टाचार पर अंकुश लगाने की गुहार लगाई है। भाजपा के पूर्व विधायक सुखबीर सिंह पुण्डीर की अगुवाई में मुख्यमंत्री से मिले प्रतिनिधि मण्डल ने विगत 8 जनवरी को लखनऊ स्थित एनेक्सी भवन में मुलाकात कर सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ को अवगत कराया कि जनपद सहारनपुर में कई विद्यालय एवं महाविद्यालय इस्लामिया डिग्री कॉलेज, गुरू नानक गल्र्स इंटर कॉलेज, इस्लामिया गल्र्स इंटर कालेज आदि अल्पसंख्य का दर्जा प्राप्त है। जो नियुक्तियों आदि कार्यो में व्यापक पैमाने पर मोटी रकम वसूल कर भ्रष्टाचार को बढावा दे रहे है।

प्रतिनिधि मण्डल ने उक्त मामले की उच्च स्तरीय जांच करवा कर भ्रष्टाचार को बढावा देने वाले स्कूलों की मान्यता निरस्त करने व सम्बन्धित प्रबन्ध कमेटियों के प्रबन्धकों के विरूद्ध दण्डनात्मक कार्यवाही किये जाने की गुहार लगाई है। प्रतिनिधि मण्डल का कहना था कि अल्पसंख्यक समाज के बेरोजगार युवकों द्वारा उनसे कई बार शिकायत की गई कि अल्पसंख्यक विद्यालयों में 20 लाख से 1 करोड रूपये तक की रिश्वत के बिना प्रबन्ध कमेटियां नियुक्तियां नहीं करती, जिस कारण बेरोजगार गरीब योग्य अपना हक नहीं ले पाते क्योंकि उनके पास धन नहीं होता।

प्रतिनिधि मण्डल का कहना था कि इस्लामियां डिग्री कालेज व इंटर कालेज तथा गल्र्स मुस्लिम इंटर कालेज में नियुक्तियां हुई थी। नियुक्तियों में बेरोजगार लोगों से मोटी धनराशि मांगी गई थी जिस कारण वो धनराशि के बिना नियुक्तियों से वंचित रहे, जिसकी जांच कराकर कार्यवाही होना आवश्यक है। मुख्यमंत्री योगी आदित्य नाथ द्वारा प्रतिनिधि मण्डल को आश्वस्त करते हुए उक्त प्रकरण में शीघ्र जांच कराकर सख्त कार्यवाही के लिए सम्बन्धित अधिकारियों को दिशा निर्देश देने का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री से मिले प्रतिनिधि मण्डल में भाजपा के पूर्व जिलाध्यक्ष मेलाराम पंवार, भाजपा बुनकर प्रकोष्ठ के प्रदेश संयोजक एम आजाद अंसारी, पूर्व मीडिया प्रभारी पदम सिंह ढायकी, शिक्षक विजय बहादुर राणा, लोकेश गुर्जर, राजेश वालिया आदि शामिल रहे।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*