Home » देश » भाजपा के इस कद्दावर नेता के बेटे की होगी अनोखी शादी

भाजपा के इस कद्दावर नेता के बेटे की होगी अनोखी शादी

पटना। बिहार की राजधानी पटना में तीन दिसंबर को भाजपा के कद्दावर नेता के बेटे की अनोखी शादी होने वाली है। जिसमें न बैंड बजेगा और न ही मेहमानों और बारातियों का स्वागत किया जाएगा।इतना ही नहीं मेहमानों को खाने और नाश्ते के बजाय भगवान का भोग लगाया हुआ ‘प्रसाद’ दिया जाएगा। इस अनोखे विवाह के लिए लोगों को निमंत्रण ई-मेल और वाट्सअप से भेजे जा रहे हैं।

ये नेता और कोई नहीं बल्कि बिहार के उपमुख्यमंत्री और भारतीय जनता पार्टी के नेता सुशील कुमार मोदी हैं जो अपने बेटे उत्कर्ष की शादी इसी अनोखे ढंग से करने वाले हैं। भाजपा नेता मोदी के बेटे के इस विवाह में न केवल राज्य के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के दहेज विरोधी अभियान की झलक मिलेगी, बल्कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के ‘डिजिटल इंडिया’ का भी समावेश दिखाई देगा।सुशील मोदी कहते हैं कि राज्य सरकार दहेज लेने के लिए लोगों को मना कर रही है, ऐसे में मैंने भी बेटे की शादी में दहेज लेने से मना कर दिया है।

लोगों को भेजे जा रहे निमंत्रण पत्र में भी इसकी घोषणा की गई है कि इस विवाह में किसी प्रकार का दहेज नहीं लिया जा रहा है। इस संबंध में पूछे जाने पर मोदी ने कहा कि यह मेरे द्वारा की गई घोषणा है। यह बात सार्वजनिक होनी चाहिए।

उन्होंने बताया कि प्रधानमंत्री मोदी को भी सोशल मीडिया के जरिए ही शादी का कार्ड भेजा गया। बेंगलुरू की एक मल्टीनेशनल कंपनी में काम करने वाले उत्कर्ष का विवाह कोलकाता की एक लड़की (चार्टर्ड अकाउंटेंट) से तय हुई है। पटना के राजेंद्र नगर के शाखा मैदान में आयोजित होने वाला यह वैवाहिक कार्यक्रम तीन दिसंबर को दिन में ही आयोजित होगा। मैदान में 1500 कुर्सियां लगाई जाएंगी। इस विवाह में आने वाले लोगों को खाने के लिए सिर्फ ‘प्रसाद’ मिलेगा।

इस विवाह समारोह में कई गणमान्य लोगों के भाग लेने की संभावना है। सुशील मोदी का कहना है कि यह शादी बिल्कुल साधारण तरीके से होगी।उन्होंने कहा कि मेरी भी जब शादी हुई थी तो साधारण तरीके से हुई थी और अब हमारे बेटे की शादी होगी तो वो भी साधारण तरीके से होगी।इस विवाह में बारातियों का स्वागत समारोह भी नहीं होगा।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*