Home » देश » मनमोहन ने गुजरात में तोड़ा अपना मौन

मनमोहन ने गुजरात में तोड़ा अपना मौन

अहमदाबाद। पूर्व प्रधानमंत्री और कांग्रेस के बुद्धिमान नेताओं में नम्बर वन माने जाने वाले मनमोहन सिंह ने मोदी की कर्मस्थली गुजरात में एक लम्बे समय के बाद अपना मौन आखिर तोड़ दिया।उन्होंने नोटबंदी को बिना सोचे-समझे जल्दबाजी में उठाया गया कदम बताया। मनमोहन सिंह ने कहा है कि इससे किसी भी लक्ष्य की प्राप्ति नहीं हुई।

पूर्व प्रधानमंत्री ने नोटबंदी को संगठित लूट और कानूनी डाका बताया। उन्होंने कहा कि जीएसटी के तहत अनुपालन की शर्तें छोटे व्यवसायों के लिए दु:स्वप्न बन गई हैं। इतना ही नहीं उन्होंने बुलेट ट्रेन परियोजना को अहंकार की कवायद बताया।

मनमोहन सिंह ने कहा कि उन्होंने संसद में जो कहा था उसे वे फिर दोहरा रहे हैं। नोटबंदी एक संगठित लूट और कानूनी डाका है। मनमोहन ने मोदी सरकार पर तंज कसते हुए पूछा कि क्या बुलेट ट्रेन पर सवाल उठाने से कोई विकास विरोधी हो जाता है और जीएसटी व नोटबंदी पर सवाल उठाने से क्या कोई टैक्स चोरी करने वाला हो जाता है। पूर्व पीएम ने कहा कि सभी को राष्ट्रविरोधी और चोर ठहराने की सोच लोकतंत्र के लिए नुकसानदेह है।बताते चलें कि गुजरात विधानसभा चुनाव में कांग्रेस के प्रचार को मजबूती देने के लिए वे आज अहमदाबाद में हैं।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*