Don't Miss
Home » लाइफस्टाइल » आपके घर में छिपा है सेक्स समस्याओं का इलाज

आपके घर में छिपा है सेक्स समस्याओं का इलाज

अमूमन लोग तुलसी के पौधे को अपने घरों में लगाते हैं खासकर भारत में हिंदू धर्म को मानने वाले तो इस पौधे की पूजा भी करते है। इतना ही नही सनातन धर्म में होने वाले लगभग सभी त्योहारों में इसका इस्तेमाल बड़ी श्रद्धा के साथ किया जाता है। इतना ही नहीं इस पौधे का लगभग सभी आयुर्वेद की दवाइयों में भी इस्तेमाल होता है।

लेकिन इसके इतर हम कुछ बातें आपको बताने जा रहे हैं जो शायद आपने अभी तक नहीं सुनी होंगी। बता दें कि इस पौधे के पत्तों और बीजों से सभी तरह की सेक्स समस्याओं का भी इलाज होता है। इसके लिए तुलसी के पत्तों के बजाय इसके बीजों का इस्तेमाल करने की जरूरत है।

तुलसी के पौधों में लगी मंजिरियों को उनके पकने पर ही तोड़ लेना चाहिए वरना कीड़ों की वजह से ये खराब हो जाते हैं। अब इनमें से काले काले बीजों को अलग करके रख लें। इसे सब्जा कहते हैं। अगर आपके घर में लगे पौधे में ये नहीं लग पाते हैं तो बाजार में पंसारी या आयुर्वेदिक दवाईयो की दुकानों से खरीद लें। अब इन सब्जा का इस्तेमाल निम्न समस्याओं के लिए नीचे दिए गए तरीकों के द्वारा करें।

ये हैं सेक्स की समस्याओं के निवारण के कुछ नुस्खे:

शीघ्र पतन व वीर्य की कमी की समस्या का अचूक इलाज है सब्जा। इन समस्याओं के निदान के लिए रोज रात को 5 ग्राम तुलसी के बीज गर्म दूध के साथ लें। दस दिन में असर दिखने लगेगा।इन बीजों में नपुंसकता जैसी लाइलाज बीमारी का भी इलाज छुपा है। इससे यौन शक्ति में भी बढ़ोतरी होती है और सभी तरह की यौन दुर्बलता की भी समस्या खत्म हो जाती है।
 

क्या करें:
इसके लिए 15 ग्राम तुलसी के बीज और 30 ग्राम सफेद मुसली लेकर चूर्ण बनाएं, फिर उसमें 60 ग्राम मिश्री पीसकर मिला दें। और शीशी में भरकर रख दें। 5 ग्राम की मात्रा में यह चूर्ण सुबह-शाम गाय के दूध के साथ सेवन करें इससे यौन दुर्बलता दूर हो जाती है। यही नहीं अगर किसी महिला को मासिक धर्म की अनियमितता की शिकायत है तो इन बीजों का इस्तेमाल करें। इसी के साथ इस दौरान होने वाले पेट दर्द का इलाज भी इन बीजों के सेवन से ठीक हो जाता है। इसके लिए केवल पीरियड होने के दिन से पीरियड रहने तक तुलसी के बीज सुबह-शाम 5-5 ग्राम पानी या दूध के साथ लें। अनियमित मासिक की शिकायत और पेट दर्द की तकलीफ से छूटकारा मिल जायेगा।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*