Home » देश » राहुल का राजतिलक

राहुल का राजतिलक

नई दिल्ली। काफी लम्बे अरसे से कांग्रेस में युवा और तेज तर्रार नेता को पार्टी का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने की पार्टी के नेताओं और कार्यकर्ताओं द्वारा मांग उठायी जाती रही इसमें कभी प्रियंका गांधी का नाम लिया गया तो कभी राहुल का।कुछ समय पहले सोनिया गांधी के अस्वस्थ्य होने के बीच एकाएक सोनिया के सलाहाकारों ने प्रियंका गांधी वाड्ररा का नाम पीछे करते हुए राहुल का नाम अध्यक्ष पद के लिये आगे कर राहुल के प्रति अपनी वफादारी सिद्ध कर दी।अन्तोत्गत्वा राहुल गांधी का आज राज तिलक कर दिया गया। ये कहना शायद अनुचित नहीं होगा कि कांग्रेस के नव निर्वाचित अध्यक्ष राहुल गांधी किसी सुर्खियाें के मोहताज नहीं हैं लेकिन कांग्रेस अध्यक्ष के रूप में उनकी असली परीक्षा पिछले कुछ समय से पार्टी की डगमगाती नैया को विजय के तट तक सही सलामत पहुंचाने की होगी।

राहुल का जन्म 19 जून, 1970 को हुआ था। भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस की आधिकारिक वेबसाइट पर दी गई जानकारी के मुताबिक, राहुल ने दिल्ली के सेंट स्टीफंस कॉलेज, हार्वर्ड कॉलेज और फ्लोरिडा के रोड़लस कॉलेज से कला में स्नातक तक की पढ़ाई की। इसके बाद उन्होंने कैंब्रिज यूनिर्विसटी के ट्रीनिटी कॉलेज से डेवलपमेंट स्टडीज में एम. फिल किया। उन्होंने इसके बाद लंदन के सामरिक सलाहकार समूह ‘मॉनीटर ग्रुप’ के साथ काम करना शुरू किया और वहां वह तीन साल तक रहे। राहुल राजीव गांधी फाउंडेशन के न्यासी और कार्यकारी समिति के सदस्य भी हैं। वह जवाहरलाल नेहरू मेमोरियल फंड, संजय गांधी मेमोरियल ट्रस्ट, राजीव गांधी चैरिटेबल ट्रस्ट और इंदिरा गांधी मेमोरियल ट्रस्ट से भी जुड़े रहे।

राहुल को जब 2013 में पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया था तो उन्होंने जयपुर में भाषण के दौरान अपनी मां एवं कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी की इस बात को बड़े भावनात्मक ढंग से कहा था कि ‘सत्ता जहर पीने के समान’ है। हालांकि, इसके ठीक पांच साल बाद अब उन्हें यह ‘विषपान’ करना पड़ेगा क्योंकि अब वह कांग्रेस अध्यक्ष निर्वाचित हो चुके हैं।कांग्रेस की कमान संभालने जा रहे राहुल नेहरू-गांधी परिवार में पांचवीं पीढ़ी के नेता हैं। यह सिलसिला आजादी से पहले मोतीलाल नेहरू से शुरू हुआ था। अध्यक्ष के तौर पर सोनिया के 19 साल के कार्यकाल के समापन के बाद देश की इस सबसे पुरानी पार्टी की कमान संभालना राहुल के लिए किसी बड़ी चुनौती से कम साबित नहीं होगा।

About namste

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*